बच्चों के शिक्षा के साथ-साथ शारीरिक एवं मानसिक विकास पर भी ध्यान दिया जाता है। प्रैक्टिकल एक्टिविटीज, विभिन्न प्रकार के खेल एवं शैक्षणिक गतिविधियों से सिखाया है।